मेरा अक्स,मेरा आइना ....... by atul kumar
मेरा अक्स,मेरा आइना …….
December 15, 2020
लोग कहते हैं by atul kumar
लोग कहते हैं
December 15, 2020
Show all

सब कुछ तो दिया आपने बिन कहे बिन मांगे

सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे by atul kumar
हमेशा दिया है आपने,बिन कहे बिन मांगे
जो बस में था वो भी और जो न था वो भी।
बचपन की गलियारों में खोये हुए मेरे खिलौने,
ठिठोले और अठखेलियों से भरी वो सुनहरी यादें।
लड़कपन की जिद में वो मेरी अनचाही मांगे,
सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे।

घर से दूर बड़े शहर में उस अजनबी होस्टल में,
माँ का लाड और पिता का प्यार दिया,
न दिखूं मैं किसी से भी कम, ऐसा प्यारा सा एहसास दिया
मुमकिन न था उस वक़्त जो भी, हर वो चीज़ वो खास मुझे दिया।
सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे।

जीवन के हर इम्तिहान में हमे अपना विश्वास दिया,
छू सके एक दिन हम ये आसमां, ऐसी उड़ान का हौसला दिया,
जब भी गिरे हम,थामा आपने और फिर उठने का भरोसा दिया
बड़े फासलों को तय करने का बेटुट जज्बा दिया
सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे।

छोड़कर हाथ आपका ,जब चले गए हम एक ऱोज
मेरी उस नादानी को भी आपने दिल से माफ़ किया
अंधेरों  से फिर घिर गया था जीवन
और जब सब कुछ मैं हार गया
फिर रौशनी लेकर आये आप
और फिर से मेरा हाथ थाम लिया
सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे

हर पल बन कर साया रहे आप इस जीवन में,
मेरी खुशियों और सफलताओं को पहचान दिया।
कभी दोस्त बनकर हाथ थामा,
कभी भाई बनकर डांट दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *