सब कुछ तो दिया आपने बीन कहे बिन मांगे by atul kumar
सब कुछ तो दिया आपने बिन कहे बिन मांगे
December 15, 2020
मेरी प्रेरणा हो तुम... poem by atul kumar
मेरी प्रेरणा हो तुम…
December 15, 2020
Show all

लोग कहते हैं

लोग कहते हैं by atul kumar
मिले हैं जब से आपसे, खुद को ही ढूंढ रहे हैं
लोग कहते हैं कि हम अपनी पहचान भूल गए
बड़ी ही संजीदगी से चुराया है एक लम्हा आपने
लोग कहते हैं, हम वक़्त से चलना भूल गए।

नूर आपके चेहरे का इस कदर छाया है मेरे अक्स पर
लोग लहते हैं हम आईना देखना भूल गए,
शोखियां आपके आँखों की छायी है इन आँखों पर जबसे
लोग कहते है कि हम नज़र मिलाना भूल गए।

पढ़ा है जबसे आपकी आँखों में क़ायनात सी वो वफ़ा
लोग कहते हैं हम अपने ही अफ़साने भूल गए,
शब्दों से भरे वो ख़्याल और लफ्ज़ बमुश्किल जुबान पे आते हैं
लोग कहते हैं हम अब लिखना भूल गए।

ये शिद्दत है आपकी चाहत की या तम्मना उल्फत की
लोग कहते हैं कि हम अपना ही ठिकाना भूल गए,
बेहिसाब सवालों का जवाब ना दे पाए इस दुनियां को
लोग कहते हैं, तुमसे मिलकर हम बदल गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *